Cryptocurrency Fraud: क्रिप्टोकरेंसी ठगी मामले में एसआईटी ने अधिकारियों, कर्मचारियों और कारोबारियों के खिलाफ जांच शुरू

News Desk
2 Min Read

Cryptocurrency fraud: हिमाचल प्रदेश क्रिप्टोकरेंसी ठगी मामले में अब तक एसआईटी ने 10 अधिकारियों, कर्मचारियों और व्यापारियों के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। एसआईटी ने मामले से जुड़े 2.5 लाख आईडी रिकॉर्ड जब्त कर लिए हैं. दस अधिकारी ऐसे हैं जिनकी संपत्ति दो करोड़ रुपये से अधिक है.

राजस्व विभाग और बैंक से इनका ब्योरा मांगा गया है। इस मामले में आरोप तय होने पर उनकी संपत्ति भी जब्त की जा सकती है. दो हजार पान सौ करोड़ रुपये के इस घोटाले में अब तक 19 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपियों ने अंतरिम जमानत के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, जहां से उनकी जमानत रद्द कर दी गई. मुख्य आरोपी सुभाष, हेमराज, सुखदेव और अभिषेक की संपत्ति जब्त कर ली गई है।

Debit Card vs Credit Card: डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड क्या होते हैं? जानिए अंतर, लाभ और हानियां क्या हैं?

इसके अलावा आठ एजेंटों के रिकॉर्ड की जांच की गई है और प्लॉट और फ्लैट कुर्क किए गए हैं। इस आरोपियों के पास से अब तक 19 करोड़ रुपये जब्द किये जा चुके हैं. इस मामले के दो मुख्य आरोपी पुलिस गिरफ्त से अभी भी फरार हैं. एक आरोपी हिमाचल छोड़कर दुबई भाग गया है, जबकि क्रिप्टोकरेंसी फ्रॉड सॉफ्टवेयर का आरोपी डेवलपर उत्तर प्रदेश के मेरठ में छिपा हुआ है।

हिमाचल पुलिस ने इस आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस से भी सहयोग मांगा है. डीआइजी अभिषेक दुल्लर ने कहा, ढाई लाख आइडी रिकार्ड का सत्यापन किया जा रहा है. कुछ अधिकारी, कर्मचारी और कारोबारी तो ऐसे हैं जिनकी संपत्ति 2 करोड़ रुपये से भी ज्यादा है. इसकी जांच अभी की जा रही है।

Crypto Currency: क्रिप्टोकरेंसी का मार्केट कैप फिर से एक ट्रिलियन डॉलर से नीचे आ गया

जरुरी जानकारी पढ़ने के लिए WhatsApp और Telegram चैनल से जुड़े!

WhatsApp Channel Follow Now

Telegram Channel Join Now

WhatsApp चैनल से जुड़े! Join Now
Telegram चैनल से जुड़े! Join Now
Share This Article
Follow:
हर पल! हर ख़बर! आज बिहार!!
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *