Digi Locker kya hai: Digi Locker में अपना डाक्यूमेंट्स कैसे अपलोड करें

News Desk
6 Min Read

डीजी लॉकर एप्स: आजकल सरकारी दस्तावेज बहुत जरुरी हो गया है, लेकिन हर जगह अपने कागजी दस्तावेज को लेकर नही जा सकते है। जब काम के डाक्यूमेंट्स अगर गुम हो जाये तो कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता हैं। इसी परेशानी को देखते हुए सरकारं नें फैसला लिया एक Digital Locker का और Digi Locker को 1 जुलाई 2015 को परधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा लंच कर दिया गया। 

ऐसे में Digi Locker की सुविधा का उपयोग कर के आप अपने डाक्यूमेंट्स को सुरक्षित रख सकते हैं। अब हर जगह अपने कुछ दस्तावेज को फिजिकल रूप में लेकर जाने का जरुरी नही होगा। 

Digi Locker kya hai – डिजी लॉकर क्या है

डीजी लॉकर या फिर डिजिटल लॉकर (Digital Locker) एक प्रकार का इन्टरनेट लॉकर है जहा आप अपना जरुरी डाक्यूमेंट्स जैसे राशन कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, मेट्रिक-इंटर की मार्कशीट आदि का सुरक्षित अपलोड कर के रख सकते हैं। इसमें अकाउंट बनाने के लिए आपके पास मोबाइल नंबर, जनम तिथि और आधार कार्ड का रहना जरुरी हैं। इस में आप कई प्रकार के सरकारी दस्तावेज अपलोड करके रख सकते है। Digi Locker ऐप को आसानी से अपने स्मार्टफ़ोन के गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते है।

Digi Locker में डाक्यूमेंट्स कैसे अपलोड करे

  • गूगल प्ले स्टोर से Digi Locker को डाउनलोड करें।
  • लॉगिन करें, और होम सेक्शन में जाये। 
  • अगर आपका डाक्यूमेंट्स पहले से ही अपलोड  है तो explore more पर क्लिक करें। 
  • फिर अपने राज्य चुने या न्यू एडेड डाक्यूमेंट्स के निचे अपना डाक्यूमेंट्स चुने। 
  • आप चाहे तो सर्च कर सकते है अपने अनुसार। 
  • फिर अपना डिटेल भर कर गेट डाक्यूमेंट्स पर क्लिक करे। 
  • थोड़ी देर इन्तेजार करने के बाद आपका डाक्यूमेंट्स अपलोड हो जाएगा।  

 

ऐसे ही बहुत सारे सरकारी डाक्यूमेंट्स डीजी लॉकर में सिक्योर कर के रख सकते हैं। आपको न कही जाने की जरुरी पड़ेगा और न ही कोई कागजी दस्तावेज साथ में लेकर घूमना पड़ेगा।

  1. ये पढ़े:

Digi Locker के फायदे – Digilocker ke fayde

कुछ भी हो सबसे पहले हम सब अपने फायदे के बारे में तुरंत सोचना शुरू कर देते हैं। और नुकसान बाद में, तो इसका फायदा ये लेख पढ़ कर यहाँ तक पहुचे हैं तो जरुर उपर का जानकारी आपको पता होगा। फिर भी इनका फायदा देखे तो आपको अपने साथ कागजी डाक्यूमेंट्स लेकर भटकने की जरुरी नही पड़ेगी। 

  • अपने स्मार्टफ़ोन के अंदर Digi Locker रखे और उसमे अपना डाक्यूमेंट्स सिक्योर कर के रख सकते हैं। 
  • घर से बहार कही भी कभी भी आपको डीजी लॉकर दस्तावेज के मामले में साथ दे सकता हैं। 
  • डीजी लॉकर का पासवर्ड पता हैं तो कभी भी आप अपने डाक्यूमेंट्स का लाभ उठा सकते हैं। 
  • ये सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त हैं, इसे फ्रॉड नही कह सकते हैं। 
  • बहुत आसानी से इसमें अपना डाक्यूमेंट्स अपलोड कर सकते हैं। 
  • इसमें रखा हुवा डाक्यूमेंट्स कभी ख़राब नही होगा। 

Digi Locker के नुकसान

वैसे तो डीजी लॉकर का कुछ ज्यादा नुकसान नही दिख रहा हैं। फिर भी थोडा बहुत नुकसान हैं जो आप इसमें कुछ ऐसे पुराने डाक्यूमेंट्स नही अपलोड कर सकते हैं। जब आप पुराने दस्तावेज अपलोड करने की कोशिश करेंगे तो कुछ एरर देखने को मिलेगा। जैसे में जब हमने दो हजार बीस से पहले का इंटर का मार्क शीट अपलोड करने की कोशिश कि तो मुझे एरर देखने को मिला। जो की ये ख़राब लगा।

ये पढ़े: Google Files और सेफ फोल्डर क्या हैं, जाने इनके फीचर

क्या डिजिलॉकर सेफ है

हाँ, डीजी लॉकर सेफ हैं इसे अपने डाक्यूमेंट्स के लिए अपने स्मार्ट फ़ोन में डीजी लॉकर एप्स का उपयोग करके के किसी सरकारी कार्य के लिए बड़ी आसानी से उपयोग में लाए जाता हैं. इस डीजी लॉकर एप्स को भारत सरकार ने मान्यता दे दी हैं.

डीजी लॉकर एप्स

इस एप्प को अपने स्मार्ट फ़ोन में प्ले स्टोर से डाउनलोड करके किसी भी दस्तावेज से जुडी और कही भी उपयोग किया जा सकता हैं. डीजी लॉकर एप्स को अपने एंड्राइड फ़ोन में डाउनलोड करके अपना खाता बना के आसानी से कोई भी दस्तावेज देख सकते हैं.

निष्कर्ष: इस लेख के माध्यम से डीजी लॉकर के बारे में आपको Digi Locker क्या हैं? Digi Locker में डाक्यूमेंट्स कैसे अपलोड करे? Digi Locker के फायदे? और Digi Locker के नुकसान? जानकारी पढ़ कर अच्छा लगा तो जरुर कमेंट्स करें और अपने दोस्तों को शेयर करे।

हमसे जुड़ने के लिए “यहाँ क्लिक” करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें और “यहाँ क्लिक” करके टेलीग्राम चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें|

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp चैनल से जुड़े! Join Now
Telegram चैनल से जुड़े! Join Now
Share This Article
Follow:
हर पल! हर ख़बर! आज बिहार!!
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *